Vikas Divyakirti Biography in Hindi : डॉ विकास दिव्यकीर्ति का जीवन परिचय

विकास दिव्यकीर्ति का जीवन परिचय (जन्म तारीख, जन्म स्थान, शिक्षा, उम्र, धर्म, जाती, माता का नाम, पिता का नाम, शिक्षण कैरियर) (Vikas Divyakirti Biography in hindi) (Age, Caste, Family, date of birth, wiki Teaching career, education, net worth)

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको एक ऐसे व्यक्ति के बारे में बताने वाले है जिसने पहले ही एटेम्पट में UPSC क्लियर कर दिया और बन गए IAS Officer लेकिन उसके बावजूद भी उन्हें वह कुर्सी रास नहीं आई और दे दिया इस्तीफा। और फिर शुरू किया वर्ष 1999 में भारत का no. 1 IAS कोचिंग इंस्टिट्यूट ”दृष्टि द विज़न”

जी हां हम बात कर रहे है डॉ विकास दिव्यकीर्ति की शायद ही कोई ऐसा विद्यार्थी होगा जो सिविल सर्विस की तैयारी कर रहा है और इनको नहीं जानता। यह ऐसे व्यक्ति है जिन्होंने IAS Officer जैसी बड़ी पोस्ट छोड़कर अध्यापक बनने का निर्णय लिया। और खड़ा कर दिया भारत का No. 1 कोचिंग सेंटर। तो चलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको डॉ विकास दिव्यकीर्ति का जीवन परिचय के बारे में बताने जा रहे है। और इसके साथ ही हम आपको vikas divyakirti biography in hindi के बारे में ख़ास जानकारियां करवाने जा रहे है। तो चलिए शुरू करते है ….

Dr. Vikas Divyakirti Biography in Hindi

परिचय बिंदु (Introduction Points)परिचय (Introduction)
नाम विकास दिव्यकीर्ति
उपाधि डॉ विकास दिव्यकीर्ति
जन्मतिथि 26 दिसंबर 1973
जन्म स्थान हरियाणा,भारत
आयु 49 (2023 में)
धर्म हिंदू
शिक्षा BA, हिंदी साहित्य से M.A और एम. फिल, हिंदी विषय से PHD, LLB की डिग्री
Drishti IAS कोचिंग संस्थान के संस्थापकडॉ. विकास दिव्यकीर्ति तथा डॉ. तरुणा वर्मा

डॉ विकास दिव्यकीर्ति का जन्म तथा परिवार

डॉ विकास दिव्यकीर्ति का जन्म 26 दिसंबर 1973 को हरियाणा के एक मध्यवर्गीय परिवार में हुआ था। इनके माता पिता का नाम इंटरनेट पर कही भी उपलब्ध नहीं है। लेकिन इनके पिता महृषि दयानन्द विश्वविधालय, रोहतक, हरियाणा के कॉलेज में हिंदी साहित्य के वयाख्यात थे। इनके माता पिता आर्य समाज को मानते थे। इनके दो भाई भी है जिसमे बड़ा भाई अमेरिका में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर है और छोटा भाई CBI में DIG के पद पर कार्यरत है।

वही बात करे इनके विवाहित जीवन की तो इनकी पत्नी का नाम तरुणा वर्मा है और वह भी पेशे से टीचर है और इनकी शादी 1998 में हुई थी। इनकी पत्नी भी इनके साथ दृष्टि कोचिंग के संस्थापक के रूप में कार्यरत है। इनके एक पुत्र है जिसका नाम सात्विक दिव्यकीर्ति है।

विकास दिव्यकीर्ति की शिक्षा

विकास दिव्यकीर्ति बचपन से ही पढाई में बहुत होशियार थे इनकी अपनी प्रारंभिक पढाई सरस्वती शिशु मंदिर से पूरी की है। इसके पस्चात आगे की पढाई के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय चुना जहां से इन्होने इतिहास विषय से BA Honours किया और इसके बाद हिंदी लिटरेचर से M.A, एमफिल और PHD, समाजशास्त्र और जनसंचार से M.A और LLB, हिंदी साहित्य से UGC-NET और GRF उत्तीर्ण किया।

Vikas Divyakirti Biography in Hindi
image: Social Media

इनकी रूचि बचपन से ही पढाई में थी इसलिए विकास दिव्यकीर्ति यही नहीं रुके भारतीय विद्या भवन विश्वविद्यालय से हिंदी और अंग्रेजी अनुवाद में पीजी (Post Graduation) डिप्लोमा भी किया। विकास दिव्यकीर्ति ने पहले ही प्रयाश में UPSC की परीक्षा को पास कर लिया था। विकास दिव्यकीर्ति मूल रूप से मनोविज्ञान, सिनेमा अध्ययन, दर्शनशास्त्र, सामाजिक मुद्दे, राजनीति विज्ञान जैसे विषयों में गहरी रुचि रखने वाले एक शिक्षक और लेखक हैं।

सरनेम पर क्या बोले विकास दिव्यकीर्ति सर

एक इंटरव्यू में विकास सर ने बताया की मेरा सरनेम मेरी चॉइस नहीं है बल्कि इसका सम्बन्ध मेरे परिवार से है। उन्होंने बताया की मेरा परिवार आर्य समाज को मानता है और आर्य समाज की विशेषता है की वह जात पात में विश्वास नहीं रखते है। हमारे यहाँ कास्ट सिस्टम काम नहीं करता और उन्होंने यह तक बताया की हमारे यहाँ यह तक भी नहीं बताया जाता की उनकी जाति क्या है। यह परम्परा तीन पीढ़ियों से चलती आ रहे है।

उन्हने बताया की हम तीन भाई है, सबसे छोटा मैं हु। तीनो का सरनेम अलग अलग है। बड़े भाई का सरनेम मधुवर्षी , छोटे का प्रियदर्शी और मेरा दिव्यकीर्ति है। उन्होंने बताया की बचपन में उनका सरनेम चक्रवर्ती लगाया जाता था लेकिन फिर पिता को पता चला की चक्रवर्ती तो बंगाल में एक जाति है। इसलिए उन्होंने चक्रवर्ती हटाकर दिव्यकीर्ति रख दिया।

विकास दिव्यकीर्ति IAS तक का सफर

आम लोगो की तरह विकास दिव्यकीर्ति ने भी अपने जीवन में काफी संघर्ष किया है। उन्होंने महज 17 साल की छोटी सी उम्र में सेल्समेन का काम शुरू कर दिया था। जिसके चलते इन्होने अपने भाई के साथ मिलकर घर घर जाकर कैलकुलेटर बेचे है।

लेकिन इसके बाद इन्होने दिल्ली विश्वविधालय में एक टीचर के पद पर अपना करियर शुरू किया। इसके बाद साल 1996 में इन्होने अपने पहले ही प्रयास में सिविल सेवा (UPSC) परीक्षा को पास कर दिया था। जिसके बाद इन्हे IAS Officer के पद पर केंद्रीय गृह मंत्रालय सौपा गया। लेकिन यह पद इनको अच्छा नहीं लगा और कुछ महीनो बाद ही इन्होने इस पद से इस्तीफा दे दिया। और फिर से पढ़ाना शुरू कर दिया। और वर्ष 1999 में वर्त्तमान में सबसे प्रसिद्ध कोचिंग संस्थान दृष्टि आईएएस की स्थापना की।

डॉ विकास दिव्यकीर्ति की रैंक क्या थी

आपको बता दे की विकास दिव्यकीर्ति ने पहले ही प्रयास में UPSC सिविल सेवा परीक्षा पास कर दी थी। उनकी आल ओवर इंडिया 384वी रैंक थी। जिसके बाद इन्हे IAS Officer के पद पर केंद्रीय गृह मंत्रालय सौपा गया। लेकिन यह पद उनका रास नहीं आया और कुछ माह बाद ही इस नौकरी से इस्तीफा दे दिया।

डॉ विकास दिव्यकीर्ति कोचिंग संस्थान ”दृष्टि आईएएस”

Vikas Divyakirti Biography in Hindi: डॉ विकास दिव्यकीर्ति द्वारा स्थापित ”दृष्टि आईएएस” कोचिंग संस्थान की शुरुआत वर्ष 1999 में की गयी थी यह देश के तमाम छात्रों के लिए है चाहे वह हिंदी माध्यम से हो या अंग्रेजी माध्यम से यह सभी यूपीएससी सिविल सेवा विद्यार्थियों के लिए उम्मीद से कम नहीं है। इस संस्थान द्वारा UPSC सिविल सेवा परीक्षा, स्टेट सिविल सेवा परीक्षा, UGC-NET, CUET (UG), CUET (PG) आदि की तैयारी कराई जाती है। आप इस संस्था की कोचिंग ऑफलाइन या ऑनलाइन दोनों ले सकते है और हाल ही में वर्ष 2017 में इन्होने अपना यूट्यूब चैनल भी स्टार्ट किया है जहा पर लाइव क्लासेज होती है।

विकास दिव्यकीर्ति कुल संपत्ति

इनकी संपत्ति की बात की जाये तो ऐसी कोई पुख्ता जानकारी नहीं है लेकिन कुछ आकड़ों के हिसाब से इनकी कुल संपत्ति लगभग 2 से 3 करोड़ रूपए है। वही बात करे वेतन की तो यह हर महीने लगभग 5 लाख रुपए लेते है।

विकास दिव्यकीर्ति सोशल मीडिया एकाउंट्स

Official Site drishtiias.Com
Instagram Instagram
YouTube Channels Drishti IAS , Drishti IAS : English Drishti PCS
Twitter Twitter
Facebook Facebook

अन्य पढ़े : गरीबों के मसीहा पत्रकार Manish Kashyap Biography in Hindi

FAQ

प्रश्न : दिव्यकीर्ति जी का जन्म कब और कहाँ हुआ था ?

विकास दिव्यकीर्ति जी का जन्म 1973 में हरियाणा में हुआ था।

प्रश्न : दृष्टि IAS कोचिंग की स्थापना कब की गयी थी ?

दृष्टि IAS कोचिंग को साल 1999 में स्थापित किया गया था।

प्रश्न : दृष्टि IAS कोचिंग के संस्थापक और सह संस्थापक कौन है ?

दृस्टि आईएएस संस्थान के संस्थापक डॉ विकास दिव्यकीर्ति तथा सह संस्थापक उनकी पत्नी तरुणा वर्मा है।

प्रश्न : डॉ विकास दिव्यकीर्ति जी के Coaching Institute का नाम क्या है?

दृष्टि आईएएस (IAS) है जिसे साल 1999 में स्थापित किया गया था।

Leave a comment