महेंद्र सिंह धोनी की जीवनी से जुडी कुछ ख़ास बाते, करियर, परिवार तथा रिकार्ड्स

महेंद्र सिंह धोनी की जीवनी(MS Dhoni Biography)

महेंद्र सिंह धोनी, ‘कैप्टन कूल’ के नाम से प्रसिद्ध महेंद्र सिंह धोनी का नाम, दुनियां भर के महान क्रिकेटरों में गिना जाता है, वह एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर है जो घरेलु क्रिकेट में झारखण्ड के लिए खेलते है, और आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी करते हैं. धोनी ने क्रिकेट खेलने की शुरुआत अपने स्कूलों के दिनों से ही कर दी थी, लेकिन इंडियन टीम का हिस्सा बनने में इनको कई साल लग गए . वह भारतीय क्रिकेट इतिहास में तीनों आईसीसी ट्रॉफी जीतने वाले एकमात्र कप्तान हैं. धोनी को वर्ल्ड क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ ‘फिनिशर्स’ में से एक माना जाता है.

महेंद्र सिंह धोनी जन्म और परिवार

एमएस धोनी का जन्म 7 जुलाई 1981 को रांची, झारखंड में एक हिंदू राजपूत परिवार में हुआ था.  इनके पिता का नाम पान सिंह और मां का नाम देवकी देवी है धोनी अपने माता-पिता के तीसरे और सबसे छोटे बच्चे हैं. उनकी एक बहन जयंती गुप्ता और एक भाई नरेंद्र सिंह धोनी. ४ जुलाई २०१० में धोनी ने अपनी स्कूल क्लासमेट साक्षी सिंह रावत से शादी कर ली. उनकी एक बेटी भी है, जिसका नाम जीवा है.

परिचय बिंदु (Introduction Points)परिचय (Introduction)
पूरा नाम महेंद्र सिंह धोनी
उपनाम कैप्टन कूल, माही, थाला, एमएसडी
जन्म तिथि 7 जुलाई 1981
जन्म स्थान रांची, झारखंड
 धोनी की उम्र43 साल
 धोनी जर्सी नंबर7
धोनी के पिता का नामपान सिंह 
धोनी की माता का नामदेवकी सिंह
धोनी के भाई का नामनरेंद्र सिंह धोनी
धोनी के बहन का नामजयंती गुप्ता
जाती हिन्दू
धोनी की वैवाहिक स्थितिविवाहित
धोनी की पत्नी का नाम साक्षी सिंह रावत
पहला टेस्ट मैच2 दिसंबर, 2005 बनाम श्रीलंका टीम
पहला ओडीआई23 दिसंबर 2004 बनाम बांग्लादेश टीम
पहला टी 201 दिसंबर 2006, बनाम दक्षिण अफ्रीका टीम
आईपीएल की टीमचेन्नई सुपर किंग्स

एमएस धोनी का लुक

एमएस धोनी अपने लुक को लेकर सुर्खियों में रहते हैं. खासकर उनका हेयरस्टाइयल जो वह अक्सर बदलते रहते है, जो फैन्स के द्वारा काफी पसंद किया जाता है

रंग सांवला
आँखों का रंग गहरा भूरा
बालो का रंग काला
लम्बाई 5 फुट 9 इंच
वजन 78 किलोग्राम

एमएस धोनी की शिक्षा

धोनी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा डीएवी जवाहर विद्या मंदिर, रांची से की. 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने सेंट जेवियर कॉलेज में दाखिला लिया था. लेकिन खेल के प्रति अधिक लगाव होने के कारण उन्होंने पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी और क्रिकेट पर पूरा फोकस किया. जिसके चलते आज वह पूरी दुनिआ में फेमस है और लोगो के दिलों पर राज करते है

एमएस धोनी घरेलू क्रिकेट करियर

एमएस धोनी को पहली बार १९९९ में रणजी ट्रॉफी खेलने का मौका मिला था और यह पहला रणजी ट्रॉफी मैच बिहार राज्य की तरफ से असम क्रिकेट टीम के खिलाफ खेल रहे थे इस मैच की दूसरी पारी में धोनी ने नाबाद 68 रनों की पारी खेली, जबकि इस ट्रॉफी के इस सत्र में धोनी ने कुल 5 मैचों में 283 रन अपने नाम किए थे. धोनी ने अपना पहला प्रथम श्रेणी शतक 2000-01 सीजन में बंगाल के खिलाफ बिहार के लिए खेलते हुए बनाया था. इस ट्रॉफी के बाद धोनी ने अन्य और भी घरेलू मैच खेले थे.

धोनी के बेहतरीन प्रदर्शन के बावजूद भी इनका सिलेक्शन ईस्ट जॉन सेलेक्टर द्वारा नहीं किया गया था. जिसके कारण धोनी ने खेल से दूरी बना ली और साल 2001 में कोलकाता राज्य में रेलवे विभाग में टिकट कलेक्टर के रूप में कार्य करने लगे. लेकिन धोनी का मन इस नौकरी में नहीं लगा और इन्होंने तीन साल के अंदर ही इस नौकरी को छोड़ दिया और फिर से अपने क्रिकेट करियर पर ध्यान देना शुरू कर दिया.

फिर साल २००१  में धोनी का चयन दिलीप ट्रॉफी के लिए हो गया, लेकिन उनको चयन की जानकारी सही समय पर नहीं मिल पाई. जिसके कारण वह इस ट्रॉफी में हिस्सा नहीं ले पाए.

फिर साल 2004 में धोनी का सिलेक्शन ‘इंडिया ए’ टीम में किया गया था. ‘इंडिया ए’ टीम की ओर से धोनी ने अपना पहला मैच विकेट कीपर के तौर से खेलते हुए. जिम्बाबे टीम के खिलाफ बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था.

तीन देशों के बीच (केन्या ए, भारत ए और पाकिस्तान ए) हुई श्रृंखला में भी धोनी ने दमदार प्रदर्शन किया और ‘पाकिस्तान ए’ टीम के खिलाफ खेले गए मैच में अपने अर्ध शतक की मदद से धोनी ने भारतीय टीम को मैच जिताया.

एमएस धोनी का आईपीएल करियर

 में आईपीएल के उद्घाटन सीजन में एमएस धोनी को चेन्नई सुपर किंग्स ने 6 करोड़ रूपये में ख़रीदा था. वह आईपीएल के पहले सीजन की नीलामी में सबसे महंगे खिलाड़ी थे. धोनी की कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स ने 2010 और 2011 लगातार दो बार आईपीएल का खिताब जीता.

2016 में, मैच फिक्सिंग को लेकर चेन्नई फ्रैंचाइजी पर दो साल का बैन लगा दिया गया था जिसके बाद धोनी को राइजिंग पुणे सुपरजायंट ने 12 करोड़ रुपये में खरीदा और टीम का कप्तान घोसित किया. लेकिन उस सीजन उनकी टीम 7वें नंबर पर रही. जिसके कारण अगले सीजन में धोनी की जगह स्टीव स्मिथ को कप्तान चुना गया. धोनी ने 2017 सीजन में पुणे सुपरजायंट के लिए एक विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में खेला था. 2018 में चेन्नई सुपर किंग्स की आईपीएल में वापसी हुई और फिर से सीएसके ने धोनी को खरीद लिया. धोनी ने उस सीजन में 455 रन बनाए और अपनी टीम को तीसरी बार चैंपियन बनाया.

2019 में धोनी की सीएसके रिकॉर्ड 8वीं बार फाइनल में पहुंची, लेकिन मुंबई इंडियंस की टीम से फाइनल में हार गयी.इसके बाद फिर से धोनी ने 2021 आईपीएल सीजन में सीएसके को चौथी बार आईपीएल खिताब दिलाया. आईपीएल 2022 के लिए खिलाड़ियों की नीलामी से पहले धोनी को सीएसके ने 12 करोड़ रुपये में रिटेन किया था. उन्होंने 24 मार्च 2022 को कप्तानी छोड़ दी और रवींद्र जड़ेजा नए कप्तान बने. हालांकि, 30 अप्रैल 2022 को, जडेजा ने कप्तानी वापस धोनी को सौंप दी.

2022 सीजन सीएसके के लिए अच्छा नहीं रहा और टीम ग्रुप स्टेज से ही बाहर हो गई. हालांकि, आईपीएल 2023 में धोनी ने सीएसके को पांचवी बार आईपीएल का खिताब जीताया. धोनी की टीम ने फाइनल में गुजरात टाइटंस को हराकर ट्रॉफी अपने नाम की. 

एमएस धोनी का अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर

टेस्ट क्रिकेट–

श्रीलंका के खिलाफ वनडे में एमएस धोनी के शानदार प्रदर्शन ने उनके लिए टेस्ट क्रिकेट के दरवाजे खोल दिए. दिसंबर 2005 में धोनी ने दिनेश कार्तिक की जगह भारतीय टेस्ट टीम में विकेटकीपर के रूप में खेला. 2 दिसंबर 2005 को बांग्लादेश के खिलाफ धोनी ने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की और अपनी पहली पारी में 30 रन बनाए. धोनी ने दूसरे टेस्ट में अपना पहला अर्धशतक बनाया. उन्होंने काफी आक्रामक अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए 51 गेंदों पर अर्धशतक जड़ा था. इसके बाद धोनी ने 2006 में पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे टेस्ट में अपना पहला शतक बनाया. इसके बाद धोनी ने लगातार अपने शानदार प्रदर्शन से भारत को जीत दिलायी.

धोनी ने 2009 में श्रीलंका के भारत दौरे में दो शतक बनाए और तीन मैचों की सीरीज में उन्होंने भारत को 2-0 से जीत दिलाई. इसी के साथ भारत इतिहास में पहली बार टेस्ट क्रिकेट में एक नंबर स्थान पर पहुंच गयी. इस सीरीज के तीसरे मैच में भारत ने 726-9 (DC) रन बनाए, जो उस समय उनका सर्वोच्च टेस्ट स्कोर था. धोनी ने अपनी आखिरी सीरीज 2014-15 सीजन में भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर दूसरे और तीसरे टेस्ट में भारत की कप्तानी करते हुए खेली. मेलबर्न में तीसरे टेस्ट के बाद, धोनी ने टेस्ट प्रारूप से अपनी संन्यास की घोषणा की.

धोनी ने अपने आखिरी टेस्ट मैच में 9 शिकार (आठ कैच और एक स्टंपिंग) किए और इस तरह तीनों प्रारूपों को मिलाकर 134 स्टंपिंग का रिकॉर्ड बनाकर कुमार संगकारा को पीछे छोड़ दिया. उन्होंने एक भारतीय विकेटकीपर द्वारा एक मैच में सबसे ज्यादा खिलाड़ियों को आउट करने का रिकॉर्ड भी बनाया, जिसे 2018 में रिद्धिमान साहा ने तोड़ा. उन्होंने अपनी आखिरी टेस्ट पारी में नाबाद 24 रन बनाए थे.

टी20 क्रिकेट–

धोनी ने 1 दिसंबर 2006 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 इंटरनेशनल में डेब्यू किया था. हालांकि, अपने पहले टी20I मैच में धोनी शून्य पर आउट हो गए, लेकिन उन्होंने एक कैच और एक रनआउट के साथ भारत की जीत में योगदान दिया. अगले ही साल, 2007 में दक्षिण अफ्रीका में हुए पहले आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप के लिए एमएस धोनी को एक युवा भारतीय टीम का नेतृत्व करने के लिए चुना गया.

उन्होंने स्कॉटलैंड के खिलाफ अपनी कप्तानी की शुरुआत की, लेकिन मैच रद्द हो गया. इसके बाद उन्होंने 24 सितंबर 2007 को फाइनल में कड़े मुकाबले में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान पर जीत के साथ आईसीसी विश्व टी20 ट्रॉफी भारत के नाम किया और क्रिकेट के किसी भी प्रारूप में विश्व कप जीतने वाले कपिल देव के बाद दूसरे भारतीय कप्तान बने.

वनडे करियर–

MS धोनी को 2004 में भारतीय क्रिकेट टीम में खेलने का अवसर मिला। भारतीय वनडे टीम एक विकेटकीपर-बल्लेबाज खोजने के लिए संघर्ष कर रही थी जब धोनी अंतरराष्ट्रीय मंच पर आए। 2000 के दशक में राहुल द्रविड़ को विकेटकीपर के रूप में देखा गया, फिर पार्थिव पटेल और दिनेश कार्तिक जैसे जूनियर विकेटकीपर-बल्लेबाजों को टीम में शामिल किया गया। लेकिन वे टीम में योग्य नहीं थे। लेकिन जब धोनी ने भारत ए टीम में अपनी छाप छोड़ी, तो उन्हें 2004-05 में बांग्लादेश दौरे के लिए वनडे टीम में चुना गया

23 दिसंबर 2004 को धोनी ने बांग्लादेश के खिलाफ एक वनडे मैच में अपना डेब्यू किया। धोनी के करियर की शुरुआत अच्छी नहीं रही, वे एक वनडे डेब्यू में शून्य पर गिर गए। उन्होंने सीरीज के दो मैचों में 12 और 7 रन बनाए। पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज में औसत प्रदर्शन के बावजूद धोनी को चुना गया था। धोनी ने पांचवें वनडे में अपना पहला शतक लगाया। विशाखापत्तनम में उन्होंने केवल 123 गेंदों पर 148 रन बनाए। धोनी ने 148 रन से भारतीय विकेटकीपर द्वारा सर्वाधिक स्कोर का रिकॉर्ड पीछे छोड़ दिया और धोनी युग की शुरुआत हुई।

2005 में श्रीलंका के खिलाफ सवाई मानसिंह स्टेडियम (जयपुर) में वनडे सीरीज के तीसरे मैच में उन्हें नंबर 3 पर पदोन्नत किया गया। भारत ने श्रीलंका से 299 रनों का लक्ष्य पीछा करते हुए सचिल तेंदुलकर का विकेट जल्दी खो दिया। तब धोनी को स्कोरिंग में तेजी मिली, जिससे वह 145 गेंदों पर नाबाद 183 रन बनाकर भारत के लिए मैच जीत लिया। इसके बाद धोनी ने बल्लेबाजी और स्टंप के पीछे अच्छा प्रदर्शन किया। 20 अप्रैल 2006 को धोनी ने आईसीसी वनडे रैंकिंग में रिकी पोंटिंग को पछाड़कर पहला स्थान हासिल किया और 42 पारियों में ऐसा करने वाले सबसे तेज बल्लेबाज बन गए।

2011 आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में धोनी ने भारत को फाइनल में पहुंचा, जब वह ऑस्ट्रेलिया को क्वार्टर फाइनल में हराया और पाकिस्तान को सेमीफाइनल में हराया। फाइनल में धोनी ने गौतम गंभीर और युवराज सिंह के साथ 275 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत को जीत दिलाई। धोनी ने मैच को ऐतिहासिक छक्के के साथ 91* के स्कोर पर खत्म किया और 28 वर्षों के बाद भारत को विश्व कप की ट्रॉफी दूसरी बार दिलाई। 2011 क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में उनका उत्कृष्ट प्रदर्शन उन्हें मैन ऑफ द मैच नामित किया गया। 9 जुलाई 2019 को 2019 विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ उनकी आखिरी वनडे पारी हुई।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास–

15 अगस्त 2020 को एमएस धोनी ने क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की। कई प्रशंसकों और क्रिकेट विशेषज्ञों को यह फैसला आश्चर्यचकित कर दिया क्योंकि धोनी ने इससे पहले संन्यास लेने की घोषणा नहीं की थी। 2019 क्रिकेट विश्व कप सेमीफाइनल में भारत की हार के बाद से उन्होंने कोई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच नहीं खेला था। इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते हुए, उन्होंने घरेलू क्रिकेट से संन्यास लेने की कोई घोषणा नहीं की थी।

एमएस धोनी का अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू

  • वनडे डेब्यू- 23 दिसंबर 2004 को बांग्लादेश के खिलाफ चटगांव में
  • टी20I डेब्यू- 1 दिसंबर 2006 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहान्सबर्ग में
  •  टेस्ट डेब्यू- 2 दिसंबर 2005 को श्रीलंका के खिलाफ चेन्नई में

एमएस धोनी को प्राप्त अवॉर्ड

वर्ष अवार्ड नाम
2006 MTV यूथ आइकॉन ऑफ़ द ईयर
2007-08मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार
2008-09आईसीसी वनडे प्लेयर ऑफ द ईयर
2006, 2008, 2009, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014आईसीसी विश्व वनडे एकादश में नामित (2009, 2011-14 में कप्तान)
2011कैस्ट्रोल इंडियन क्रिकेटर ऑफ द ईयर
2011न्यूज18 इंडियन ऑफ द ईयर
2013LG पीपुल्स च्वाइस अवार्ड
2018पद्म भूषण, भारत का तीसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार
2019पद्म श्री, भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार
2011-2020आईसीसी स्पिरिट ऑफ द क्रिकेट अवॉर्ड ऑफ द डिकेड
2011-2020आईसीसी पुरुष टी20 टीम ऑफ द डिकेड में नामित (कप्तान और विकेटकीपर) 
2011-2020आईसीसी पुरुष वनडे टीम ऑफ द डिकेड में नामित (कप्तान और विकेटकीपर)

 एमएस धोनी के रिकॉर्ड्स

  • धोनी के नाम वनडे में 7 नंबर की पोजिशन पर खेलते हुए सबसे ज्यादा शतक लगाने का रिकॉर्ड दर्ज है.
  • कप्तान के रूप में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले दुनिया के दूसरे बल्लेबाज़ (211).
  • अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा 195 स्टंपिंग का रिकॉर्ड भी धोनी के नाम है
  • वनडे में किसी विकेटकीपर बल्लेबाज द्वारा सबसे ज्यादा स्कोर (183 रन).
  • बतौर कप्तान सबसे ज्यादा टी20 इंटरनेशनल मैच जीते.
  • अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार विकेटकीपर के तौर पर मैच खेलते हुए गेंदबाजी की.
  • धोनी 4,000 टेस्ट रन बनाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर हैं.
  • वनडे क्रिकेट में 50 से अधिक औसत के साथ 10,000 रन बनाने वाले पहले खिलाड़ी.
  • T20I में विकेटकीपर के रूप में सर्वाधिक स्टंपिंग (34)
  • धोनी ने कप्तान के रूप में सर्वाधिक अंतर्राष्ट्रीय मैच (332) खेले हैं.
  • एक T20I पारी में विकेटकीपर के रूप में सर्वाधिक कैच (5)
  • साउथेम्प्टन में इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में छक्का लगाने के बाद धोनी ने कप्तान के रूप में 50 छक्के पूरे कर लिए, जो एक भारतीय रिकॉर्ड है.
  • धोनी कुल मिलाकर 100 मैच जीतने वाले तीसरे कप्तान हैं.
  • 2005 में श्रीलंका के खिलाफ धोनी का 183* रन किसी विकेटकीपर का सर्वोच्च स्कोर है.
  • धोनी खेल के तीनों प्रारूपों में 150 स्टंपिंग करने वाले पहले और अब तक के एकमात्र विकेटकीपर हैं. 

एमएस धोनी की शादी

महेंद्र सिंह धोनी ने 4 जुलाई 2010 को देहरादून में साक्षी रावत के साथ शादी की थी. दरअसल, धोनी ने साक्षी रावत के साथ लव मैरिज की थी धोनी और शाक्षी बचपन से एक दूसरे को जानते थे दोनों एक ही स्कूल में पढ़ते थे बता दे की साक्षी का जन्म 19 नवंबर 1998 को असम के तिनसुकिया जिले के लेखपानी गाँव में हुआ था. उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई देहरादून से की, जबकि स्कूलिंग रांची से कंप्लीट की. साक्षी ने औरंगाबाद में स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट से होटल मैनेजमेंट की डिग्री प्राप्त की. 

इन सबके बाद धोनी और साक्षी की मुलाकात लगभग 10 साल बाद कोलकाता के एक होटल में हुई. जहां टीम इंडिया कोलकाता में होटल ताज में रूकी हुई थी. वहीं साक्षी उस समय महाराष्ट्र में होटल मैनेजमेंट की स्टूडेंट थी और कोलकाता के ताज होटल में इंटर्नशिप कर रही थीं. खास बात यह थी कि जिस दिन धोनी और साक्षी की मुलाकात हुई, वह साक्षी के इंटर्नशिप का आखिरी दिन था. दोनों की मुलाकात धोनी के मैनेजर युद्धजीत दत्ता ने कराई थी. वह साक्षी के भी दोस्त थे. 

धोनी शाक्षी को देखते ही उन पर फ़िदा हो गया था धोनी ने अपने मैनेजर से कहकर उनका नंबर माँगा और मैसेज कर दिया शाक्षी को विस्वास ही नहीं हुआ की खुद भारतीय टीम के कप्तान उन्हें मैसेज कर रहे है दोनों का अफेयर इतना सीक्रेट था की लोगो को उनकी शादी वाले दिन पता चला की इनका अफेयर कई महीनो से चल रहा है अफेयर के बाद फिर दोनों ने शादी करने का फैसला लिया और 3 जुलाई 2010 को देहरादून के एक होटल दोनों की सगाई ने सगाई कर ली

दोनों ने अपनी शादी को भी काफी सीक्रेट रखा था. 4 जुलाई 2010 को धोनी और साक्षी ने देहरादून के विश्रांति रिजॉर्ट में शादी की थी इस शादी में धोनी और साक्षी के परिवारवालें और बेहद खास दोस्त ही शामिल हुए थे. फिर शादी के पांच साल बाद धोनी और साक्षी माता-पिता बने. उनके एक बेटी हुई  जिसका नाम जीवा है.

Rinku Singh Biography in Hindi

महेंद्र सिंह धोनी के जीवन पर बनी फिल्म

महेंद्र सिंह धोनी के जीवन पर हाल ही में एक फिल्म भी बनाई गई थी. जिसका नाम. ‘एम.एस धोनी: अंटोल्ड स्टोरी’ था और ये फिल्म साल 2016 में रिलीज की गयी थी. इस फिल्म में धोनी की जिंदगी को दर्शाया गया है और इनकी भूमिका को एक्टर सुशांत सिंह राजूपत ने निभाया था.  

महेंद्र सिंह धोनी की कुल संपत्ति

कप्तान एमएस धोनी की गिनती दुनिया भर के सबसे अमीर क्रिकेटरों में की जाती है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार,धोनी की कुल संपत्ति लगभग 1040 करोड़ रुपये हैं. उनकी सालाना आय करीब १०२करोड़ रुपये है. धोनी आईपीएल टीम चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के कप्तान के तौर पर 12 करोड़ रुपये फीस लेते हैं.

महेंद्र सिंह धोनी की जीवनी FAQ

प्रश्न : महेंद्र सिंह धोनी का जन्म कब और कहां हुआ था?

महेंद्र सिंह धोनी का जन्म 7 जुलाई 1981 को झारखण्ड के रांची में हुआ था।

प्रश्न : महेंद्र सिंह धोनी कोनसी आईपीएल टीम के कप्तान हैं?

महेंद्र सिंह धोनी चेन्नई सुपर किंगस के कप्तान हैं ।

प्रश्न : महेंद्र सिंह धोनी की कुल संपत्ति कितनी है?

महेंद्र सिंह धोनी की कुल संपत्ति 1040 करोड़ रुपये हैं

प्रश्न : महेंद्र सिंह धोनी ने भारत क्रिकेट टीम में कौन सी भूमिका निभाई?

महेंद्र सिंह धोनी ने कप्तान, विकेटकीपर और बल्लेबाज की भूमिका निभाई।

Leave a comment